#559. वक़्त को वक़्त की नज़र लगे…

कभी वक़्त को वक़्त की नजर लगे,

वक़्त अपनी डगर से जा भटके।

चलता है ये बिना रुके,

मेरी दुआ है कभी ये इतवार पर जा अटके।।

🤔mयंक

#558. दिल के अरमान तब टूटे…

दिल में बस एक ख्याल था,

वो पलटे,

मेरी ओर बढ़े,

मेरा हाथ थामें,

और कहे,

क्यों न दो से एक हो जाये,

दुनियादारी भूल आ गले लग जाए।।

पानी जैसे शांत मन्न में भूचाल सा आजाता,

गर उसकी ज़ुबाँ पर मेरा नाम आता।।

वो पलटी ज़रूर,

वो मेरी ओर बढ़ी,

मेरी धड़कने बढ़ी,

जब उसकी निगाह मुझसे लड़ी।

पर उस दिन एहसास हुआ,

की किसी अंजान पे दिल मत लगाना।

मेरे दिल के अरमान तब टूटे,

जब उसने कहा “भैया” ज़रा ये पता बताना।।

😂mयंक

————————-

हर कहानी का अंत मोहब्बत भरा नहीं होता , कभी कभी मज़ाकिया भी होता है😁😁😁😁😁

#557. ख़ुशी दो पल की…(Khushi Do Pal Ki…)

दो पल ही सही,

वो करीब तो बैठी थी।

दो पल ही सही,

उसकी वो हसीन मुस्कान तसल्ली से तो देखि थी।।

😄mयंक

—–—————————

Click Here to like Dil Ki Kitaab on f.b 😊

#556. कड़वी ज़ुबान…

ज़ुबाँ को इतना भी कड़वा न कीजिये की शहद फीका लगने लगे।

अपनों से इतना भी बैर न कीजिये की उनका हर एक शब्द तीखा लगने लगे।।

🤔mयंक

#555. वक़्त की रेत… ( Waqt ki Ret..)

वक़्त-वक़्त की बात है,

जब बीत जाता है वक़्त तब बड़ा याद आता है।

और जब वक़्त होता है, तब उसकी क़द्र नी होती है।।

❤ mयंक

#554. चलो-चले दुनिया की नजरों से दूर….

दुनिया की नज़रों से छिपकर,

किसी अंजान सफर पर तू और मैं निकले,

रात 3 बजे किसी ढ़ाबे पर बस जा रुके।।

सर्द रात हो,

मेरे हाथों में तेरा हाथ हो,

कुल्हड़ में चाय हो,

तेरी निगाहों से निगाह टकराई हो।।

गप-शप हो जमकर,

बस तुझे देखता रहूँ साँसे थामकर।।

फिर तू मुस्कुराए,

और बोले- अच्छी बनी है चाय।

हवा चले सरर से,

और तू ठिठुर जाए।।

तू बोले- ठण्ड लग रही है,

चलो बस में वापस चला जाए।।

😏mयंक

#553. माँ का डर…(Maa ka Darr…)


​पहले तो हर Brand की पी कर देखी।

जब माँ आने वाली थी Room पर,

तो कट्टे में भरकर, सारी बोतलें फेंकी।।

😋 mयंक

Note- पीता नहीं हूँ, बस तलाश है  उसकी जो अपनी नज़रों से मुझे पिला दे।

#Just_For_Fun

#552. किस्सा आज-कल के आशिकों का…

​ये सच है कि मोहब्बत हो जाती है किसी को एक झलक देखकर, पर हर किसी को देखकर मोहब्बत हो जाए ऐसा कँहा होता है। पर आज कल के आशिकों के लिए मोहब्बत मज़ाक बनकर रह गया है। उन्हें मन्न से नहीं तन से मोहब्बत होती है। और आज कल तो f.b पर बिना उसका चेहरा देखे मोहब्बत हो जाती है कुछ लोगों को। लड़की ने 2-4 बातें क्या करली आपसे इसका मतलब ये नही है कि उसे आपसे मोहब्बत है। हर लड़की को आप बहन नही मानते कोई बात नही, मत मानो। पर किसी की इज्ज़त करने के लिए उसका बहन होना जरुरी नही है, ओ बहन नही है तो Girlfriend भी नही है 😑😑।

 जिन्हें समझाने की कोशिश है उन्हें कभी ये बात समझ आएगी नहीं।

——————————–

थोड़ा हवा क्या चली,

नवजात कबूतर पँख फड़फड़ाने लगे।

उन्होंने हंसकर बात क्या की,

हम उन्हें चाहने लगे।।

💝mयंक

#551 एक कहानी जी कभी शुरू ही न हुई…. (Ek kahani jo kabhi shuru hi na hui…)

एक किस्सा,

छिपा दिल में,

होंठ सिये,

आँखों में ज़ज़्बात लिए,

खड़ा सामने उसके।

बर्फ ज़ुबाँ पे,

ख़ामोशी फ़िज़ा में।।

“कुछ कहानियों की उम्र बस इतनी सी होती है”

💝mयंक

#550. जिस्म से मोहब्बत… ( Jism se Mohabbat…)

खिलते गुलाब की कली का आज बोल लगा होगा,

मोहब्बत के त्यौहार के नाम पर आज कोई जिस्म से खेल गया होगा।।

💝mयंक

——————————–

click here to like Dil Ki Kitaab on fb 😊😊